Home Remedy For Wheezing (khansi ka gharelu upay) | सूखी खांसी के लक्षण | सूखी खांसी का बढ़ियां घरेलू उपचार

 खांसी एक सामान्य क्रिया है , जब मनुष्य को एलर्जी, या सर्दी लग जाए या फिर कोई पुराने रोग के कारन उसे खांसी हो तो उसका घरेलु उपचार करने से पुरानी से भी पुरानी खांसी को खत्म किया जा सकता है। इसको आपके शरीर को कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होगा, बल्कि आपके और दूसरे रोगों से भी आपको राहत मिलेगी। खांसी आने का मुख्या कारन होता है कि मनुष्य के गले में तंतु और काफी बारेख रेशे होते है, जब बलगम फेफड़ों से इन रेशों पर आता है तो इस प्रक्रिया की जानकारी मस्तिष्क को भेजते है जिससे खांसी आने लगती है। khansi ke gharelu उपाय भी बताये गए है जो कि allopathy से होने वाले side effects से बचाती है। 



सूखी खांसी के लक्षण

सुखी खांसी के कई सारे कारन हो सकते है इसका कोई मुख्य कारन नहीं होता, खांसी आपको धूम्रपान करने से हो सकती है , या किसी फ़्लु के कारन हो सकती है या आपके फेफड़े की बिमारी के कारन भी हो सकती है , हलाकि खांसी होना बहुत ही आम बात मानी गयी है लेकिन अगर ये आपको काफी पुराने समय से है या काफी टाइम हो गया है लेकिन खांसी ठीक नहीं हूँ रही है तो ये चिंता का विषय हो सकता है। 

खांसी के कुछ मुख्य कारन होते है जैसे -

1. गले में कुछ अटका हुआ होना, श्लेष्म का न होना, खांसते समय हाँफनी की आवाज सुनाई देना, गले में सूखा महसूस होना, घरघराहट होना, और नाक का बंद होना ये कुछ सूखी खांसी के लक्षण होते है। 

2 बुखार, ठण्ड , सर दर्द , नाक बहना, उल्टी, साइनस पर दवाब का महसूस लगना, पसीना ज्यादा आना, नजला होना ये कुछ लक्षण इन्फेक्शन को दर्शाते है। 

3 आपको चिंतित तब होना है जब आपकी खांसी को 3 हफ्ते से ज्यादा हो गया है, खांसी दिन प्रतिदिन बदतर होती जा रही है , आपको खांसते समय सीने में दर्द होता है और खून आता है या सांस लेने में दिक्क्त होती है तो ये काफी चिंतित करने वाले लक्षण माने गए है। 

4 दूसरे लक्षण है कि आवाज में बदलाव आना , गले में गांठ होना, या गले के अंदर सूजन हो जाना और बिना किसी कोशिश के वजन का कम हो जाना ये काफी गंभीर बिमारी के लक्षण होते है। और इससे आपको खांसी भी होती है। 

5 कुछ सूखी खांसी के लक्षण जैसे कि- अस्थमा, फेंफड़े कि बिमारी, सांस लेते समय खाने का टुकड़ा अंदर चले जाना, कुछ खांसी की दवा के कारन आपकी खांसी का और ज्यादा बढ़ना और उसका side effect होना, एलर्जी व धूम्रपान के कारन, हे फीवर (hay Fever ) के कारन सूखी खांसी का होना। 

Home Remedy For Wheezing | सूखी खांसी का बढ़ियां घरेलू उपचार

खांसी के बचाव के लिए कुछ khansi ka gharelu upay या khansi ke gharelu nuskhe को अपना सकते है , इससे आपके शरीर का रेस्पिरेटरी सिस्टम भी मजबूत होगा और आपके imuunity को भी बूस्ट करेगा। 

1. अदरक का रस निकाल कर उसमें दाल चीनी को मिला करके उसको गर्म कर लीजिये या आप अदरक के रस में तुलसी के पत्ते का रूस मिलने से उसमें हल्का शहद मिला के उसका सेवन करें, आप शहद के स्थान पर गुड़ का भी उपयोग कर सकते है और आपको एक बार में एक चम्मच से ज्यादा का dose नहीं लेना है, इसको सुबह, दोपहर, और शाम को खली पेट लेना है। 

2. दूसरा सूखी खांसी का बढ़ियां घरेलू उपचार है कि हल्दी को दूध में दाल कर दूध को गर्म करें आप दूध के स्थान पर पानी का भी इस्तेमाल कर सकते है और कोशिश करें कि कच्ची हल्दी का इस्तेमाल करें और हल्दी को १/४ चम्मच लेनी है , आप इसका इस्तेमाल बच्चों में होने वाली tonsils बीमारी में भी इसका घरेलु उपचार किया जाता है।

3.  गले में इन्फेक्शन से होने वाली खांसी या गले में जकड़न के लिए हल्दी, दूध और गाय का घी इन सभी का मिला कर सेवन करें, 1 ग्लास दूध, एक चौथाई चम्मच हल्दी और एक चम्मच घी इन सभी को मिला कर इसको उबाल लें और फिर इसका सेवन करें। 

4. सूखी खांसी के लिए आप कुछ तुलसी के पत्ते, काली मिर्च, अदरक का काढ़ा बना कर उसका सेवन कर सकते है , काढ़ा काफी गर्म होना चाहिए।  

5. 200 ग्राम गाजर का रस और १०० ग्राम पालक का रस मिला कर पीने से कुछ दिनों में खांसी में आराम दिखने लगेगा। 

6. सूखी खांसी के लिए अदरक , शहद, पान का रास मिला कर आप उसको रात में ले सकते है। 

7.सबसे बदतर खांसी के लिए अदरक को भून लें और फिर उसको हल्दी में दाल दें , उसमें हल्दी चिपक जाएगी फिर उसको थोड़ा थोड़ा करके टुकड़ों में खाने से आपको तुरंत फायदा दिखेगा। 

8. अनार के रस को गर्म करके पीने से या अनार के दानो को गर्म करके खाने से खांसी में आराम मिलता है। 

9. khansi ke gharelu nuskhe के लिए आप लोंग को पानी में डालें और फिर पानी को उबालें इससे ये लोंग का पानी बन जायेगा और इसका दिन में 3 बार पिएं इससे गले में दर्द, इन्फेक्शन, खराश को ठीक करता है। 


 

Comments