Tips To Boost Immune System

Immunity हमारे शरीर की टॉक्सिन्स से लड़ने की क्षमता होती है। ये टॉक्सिन्स बक्टीरिया, वायरस, फंगस, पैरासाइट या कोई दूसरे नुकसानदायक पदार्थ हो सकते हैं। अगर हमारी इम्यूनिटी मजबूत है तो यह हमे न सिर्फ सर्दी और खांसी से बचाती है बल्कि हेपैटाइटिस, लंग इनफेक्शन, किडनी इनफेक्शन सहित और कई बीमारियों से हमारा बचाव होता है।

हमारे आसपास कई तरह के Pathogens होते हैं। हमें पता भी नहीं होता और हम खाने के साथ, पीने के साथ यहां तक की सांस लेने के साथ भी हानिकारक तत्वों को intake  कर लेते हैं। ऐसा होने के बाद भी हर कोई बीमार नहीं पड़ता। जिनका immunity system मजबूत होता है वे इन बाहरी संक्रमणों से बेहतर तरीके से मुकाबला करते हैं। हमारी प्रतिरोधक क्षमता कैसी है इस बारे में हम Blood test से पता कर सकते हैं लेकिन हमारा शरीर भी हमें कई तरह के signals देने लगता है।

बार-बार संक्रमण होना या ऐलर्जी,  अगर आपको लगता है कि आप दूसरों की अपेक्षा बार-बार बीमार होते हैं, जुकाम की शिकायत रहती है, खांसी, गला खराब होना या स्किन रैशेज जैसी समस्या रहती है तो बहुत possibility है कि यह आपके immune system की वजह से हो। कैंडिडा टेस्ट का पॉजिटिव होना, बार-बार यूटीआई, डायरिया, मसूड़ों में सूजन, मुंह में छाले वगैरह भी खराब इम्यूनिटी के लक्षण हैं।

कुछ लोग जरा सा मौसम बदलते ही बीमार हो जाते हैं। यह शरीर का तापमान कम होने से हो सकता है। मजबूत इम्यून सिस्टम के लिए नॉर्मल ऑरल बॉडी टेंपरेचर 36.3 डिग्री से. से नीचे नहीं होना चाहिए। क्योंकि सर्दी के वायरस 33 डिग्री पर सर्वाइव करते हैं। रोजाना exercised करने से आप अपनी बॉडी का तापमान और इम्यूनिटी बढ़ा सकते हैं। साथ ही warmness पैदा करने वाले मसाले जैसे लहसुन अदरक, दालचीनी लौंग वगैरह भी बेहद काम के हैं।
रोग-प्रतिरोधक क्षमता या इम्युनिटी पावर सभी लोगों के लिए काफी महत्वपूर्ण चीज़ है।
डॉक्टर भी लोगों को इसे बनाए रखने या फिर बढ़ाने की सलाह देते हैं, लेकिन लोगों के मन में यह सवाल आता है, कि वे अपनी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं।
इसी कारण, उन्हें मौसम के बदलने, किसी नई बीमारी के होने, परिवार में किसी अन्य व्यक्ति के बीमारी होने इत्यादि परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

Why immunity is important?

1.Being healthy - रोग-प्रतिरोधक क्षमता के सही होने का प्रमुख कारण सेहतमंद रहना है, जिस व्यक्ति की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है, वह अधिक सेहतमंद रहता है।

2.Mentally Fit - रोग-प्रतिरोधक क्षमता का असर लोगों के शरीर के साथ-साथ मस्तिष्क पर भी पड़ता है।
यह उससे मानसिक रूप से मजबूत रहने में मदद करती है, जिससे उसे मानसिक रोग होने की संभावना कम हो जाती है

3.Helps in to be physically Fit- रोग-प्रतिरोधक क्षमता व्यक्ति को शारीरिक रूप से मजबूत रहने में सहायता करती है।एक ओर, कमज़ोर रोग-प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्ति को कमज़ोर महसूस होती है,वहीं दूसरी ओर मजबूत रोग-प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्ति को ऐसी कोई Problem नहीं होती है,बल्कि उसकी शारीरिक मज़बूती बनी रहती है।

4.Healthy to Next generation- अक्सर, कमज़ोर रोग-प्रतिरोधक क्षमता की समस्या genreation to generation तक चलती रहती है, जिसकी वजह से यह समस्या आने वाली पीढ़ियों में भी देखने को मिल सकती है। इसी कारण, इसे मजबूत बनाने की आवश्यक है, ताकि आने वाली generation healthy रहे।

5. Protect Family from the Diseases - कमज़ोर रोग-प्रतिरोधक क्षमता का असर आने वाली पीढ़ियों पर नहीं बल्कि परिवार के मौजूद सदस्यों की सेहत पर भी पड़ता है।
इस प्रकार, सभी लोगों को अपनी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखने की कोशिश करनी चाहिए ताकि उनके परिवार के सदस्यों को किसी तरह की बीमारी न हो।

Tips to Boosting up Immunity

हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए एक अच्छी इम्यूनिटी या Immuny system बहुत जरूरी है। जिससे हमारा शरीर अच्छे तरीके से काम करता है और आपको स्वस्थ  रखता है। अपने इम्यून सिस्टम को हमेशा स्वस्थ रखना बहुत जरूरी है जिससे आप बहुत से जानलेवा Virus, Bacteria और बहुत सी बीमारियों से बच सकते हैं। यदि आपका इम्यून सिस्टम ठीक से काम करेगा तो आपकी इम्यूनिटी भी बढ़ेगी और आप स्वस्थ रहेंगे। इम्यूनिटी बढ़ाने के कुछ उपाय जो आपको बहुत सी जानलेवा बीमारियों से दूर रखेगा।
‌ 
1. Proper Diet

हमारे जीवन में खाने का बहुत महत्व है। अच्छे पोषण के बिना हमारा शरीर अच्छे से कम नहीं कर पाएगा।हमारे शरीर को अच्छे से काम करने के लिए एनर्जी की जरूरत होती है।जो हमें Nutrious Diet  से मिलती है। यह हमें काम करने के लिए अच्छी एनर्जी देते हैं और इम्यूनिटी भी  बढ़ाते हैं। बहुत से अलग अलग Material है जो इम्यूनिटी को बढ़ाने में सहायक होते हैं। जैसे- प्लांट आधारित खाना,प्रोटीन, फाइबर आदि इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करते हैं और इम्यूनिटी सिस्टम को बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। कुछ खाद्य पदार्थ जिन्हें रोज खाने से इम्यूनिटी बढ़ती  है -
‌ हल्दी 
‌लहसुन
‌बादाम
‌ पपीता
‌व्यायाम
स्वस्थ रहने के लिए Yoga बहुत ही जरूरी है। व्यायाम करने से बहुत सी बीमारियों से बचने में हमारे शरीर को मदद मिलती है।और जैसे अच्छा खान पान हमारे शरीर में इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है उसी तरह व्यायाम करने से भी हमारे शरीर में इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है । व्यायाम करने से हमारे शरीर में होने वाली बहुत सी बीमारियों से भी बचा जा सकता है, जैसे - कोलेस्ट्रॉल,स्ट्रेस हार्मोन्स।  हमारे शरीर में ज्यादा कोलेस्ट्रॉल या स्ट्रेस हार्मोन होने  की वजह से हमारा  इम्यून सिस्टम कमजोर होने लगता है।इसलिए रोजाना व्यायाम करने  से इससे बचा जा सकता है और इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत किया जा सकता है।

2. Energy Drinks

जैसे कि हम सब जानते हैं कि पानी हमारे जीवन के लिए बहुत ही आवश्यक है । जो  हमारे शरीर को Hydrate रखता है और स्वस्थ रखता है। हमें रोजाना 8 से 10 ग्लास पानी जरूर पीना चाहिए। ज्यादा पानी पीने से हम किडनी से जुड़ी बीमारियों से भी बच सकते है और हमारा इम्यून सिस्टम भी अच्छे से कम करता रहता है। इसके अलावा हम रोजाना हल्दी वाला दूध पीकर भी इम्यूनिटी बढ़ा सकते है। और अगर आप ग्रीन टी पीते है तो उसमें में कुछ गरम मसाले जैसे - लोंग,इलायची,काली मिर्च डालकर पी सकते है। इन मसालों में  मौजूद Flaevonoid इम्यूनिटी सिस्टम को बढ़ाने में बहुत फायदमंद होता है।

3. Take Proper Sleep

 हमें अगर अपने शरीर को स्वस्थ रखना है तो हमें अच्छी नींद लेना बहुत जरूरी है। नींद से बचे रहना हमारे लिए बहुत ही बेकार है इससे हमें कई तरह की बीमारियां हो सकती है क्योंकि जब हम अच्छे से नींद नहीं लेंगे तो हमारे शरीर की Immunity Strength  कम  होगी। इसलिए अगर हम बीमारियों से बचे रहना चाहते है और इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाना चाहते है तो अच्छी नींद लेना बहुत जरूरी है। इसलिए हम रोजाना 7-8 घंटे अच्छी नींद लेनी चाहिए।

4. Vitamins

(a)  Vitamins A और E- विटामिन ए और ई अच्छे Oxidents होते है जो हमारे शरीर में होने वाली inflammation  को होने से रोकते है और शरीर में होने वाली बीमारियों से बचने में मदद करते है।
Vitamin A के लिए हम इन चीजों को खा सकते हैं -
  • सब्जी में - गाजर, पीली और लाल शिमला मिर्च।
  • फल में - आम, पपीता।
  • विटामिन ई के लिए हम इन चीजों को खा सकते है -
  • सरसों, सलजम,कद्दू, सोयाबीन , बादाम, मूंगफली।
(b) Vitamin C  - विटामिन सी में एक्सीऑक्सिदेंट होते है जो फ्री रेडिकल्स होने से हमारे शरीर में होने वाली चोट और संक्रमण से हम बचाते हैं।
विटामिन सी के लिए हम इन चीजों को खा सकते है -
नींबू, संतरा,आंवला।

(c) Vitamin D - विटामिन डी वायरल फीवर और सांस से जुड़ी हुई बीमारियों से बचने में मदद करता है। विटामिन डी के लिए हम इन चीजों को खा सकते है - मशरूम और विटामिन डी के लिए हम सूर्य की रोशनी में बैठ सकते है।

Analyze The Immunity System

.Immunity हमारे शरीर की एक क्षमता  हे जो हमे Toxins से लड़ने की शक्ति देता हैं, इम्युनिटी हमे Toxins से लड़ने सहायता देता हे जैसे - बेक्टेरिया,  वायरस,  फंगस,  पैरासाइट ये सब आस - पास पाए जाने वाले Toxins हैं अगर हमारा इम्युनिटी सिस्टम ख़राब होता हैं तो ये सब Toxins  हमारे शरीर को जकड़ लेते हैं जिससे हमे कई बीमारियां होती हैं जैसे - भुखार , टाइफाइड , सर्दी लग जाना, खांसी होना, जुखाम होना, किडनी की परेशानी होना, लंग में परेशानी होना, हार्ट में तकलीफ और कई बीमारीयों से हमे गुजरना पड़ता हैं तो हम आपको बताएँगे की अपने इम्युनिटी सिस्टम को कैसे बढ़ाएं और अगर आपकी इम्युनिटी कमजोर हैं तो शरीर को नुक्सान पहुंचाने वाले टॉक्सिंस से लड़ें तो हम आपको सबसे पहले यह बताएँगे की ये सब बीमारियां आती कहाँ से हैं, और ये Toxins हमे होते कैसे हैं, और इन सब को अपने शरीर में से कैसे मिटायें जिससे हम और आप कैसे Healthy रहें हमारे आस - पास कई टॉक्सिंस या पैथोजंस पाए जाते हैं जैसे - खाना खाने के साथ , पानी पिने के साथ , घूमने के साथ , यहाँ तक की सांस लेने के साथ भी हम उन टॉक्सिंस को अवशोषित कर लेते हैं जिससे हम बीमार नहीं पड़ते क्योंकि हमारा इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है जिनका इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत नहीं होता उन सब को यह टॉक्सिंस जकड़ लेते हैं हमारी इम्युनिटी कैसी हैं इन सब के बारे हम Blood Report  से पता कर लेते हैं, अगर हमारे शरीर की इम्युनिटी कमजोर होती हैं तो हमारी body Signals देती है. इम्युनिटी कमजोर होने के कारण हमे कोई बीमारी होने से पहले हमे Signals मिल जाता हैं जैसे भुखार आने से पहले शरीर का टूटना , खांसी होने से पहले गले में खिचापन होना सर्द - गर्म होने से जुखाम के symptoms दिखाई पड़ते और जो भुखार  शरीर में पल जाता हे उससे (टायफाइड ) (मलेरिया) होता हैं जिसे हमे (नेहना भुखार भी कहते हैं) तो ये सब सिम्टम्स होते हैं शरीर में इम्युनिटी कमजोर होने के or इम्युनिटी कमजोर किस के कारण होती हैं, जैसे ही आपके शरीर का इम्युनिटी सिस्टम कमजोर होने लगता हे, उसके कुछ ही पल बाद आप का शरीर टूटने लगता हे, जैसा आप जानते हैं की पूरी दुनियां आज Auto Maization  पे जा रही हे और इसके साथ ही साथ Automen diseas भी बढ़ती जा रही हैं जिससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता  घटती जा रही हैं और आप को यह भी बता दें की automen diseases की कोई दबाई भी नहीं हैं लेकिन योगा करने से Automen diseases अच्छी जो जाती हे Automen diseases होने से ज्यादातर लोगों को पूरे शरीर में दर्द होने लगता है और आप उन लोगों का earthetish चेक करेंगे तो ठीक मिलेगा और आर इफेक्टिव पॉजिटिव नहीं होगा और (e s r ) भी ठीक मिलेगा और लेकिन पुरे शरीर में खतरनाक दर्द होता हे और (Auto men diseases ) होने के कारण बहुत लोगों के सिर के बाल जडने लगते हैं किसी को आखों की तकलीफ होती हे किसी को इसकिन डिशोढस की तकलीफ Auto men diseases के कारण जो आप के शरीर के  sensitive part हे वो ख़राब हो सकते हैं तो Auto Matization को बढने से रोकें जिससे आप का immune system मजबूत रहेगा 

  • Measures to remove auto man disease
.  आप को ( ऑटो मैन डिजीज) को दूर करने के  लिए सबसे पहले , पांच मिनट भस्त्रिका प्राणायाम, फिर पन्द्रहा से आद घण्टा कपालभाति और अनलोम - विलोम ये दोनों ही बहुत जरूरी है और साथ में ये बताई गई Indian Medicine भी ले जैसे - विट ग्रास , ऐलोराबेरा , गिलोई , तुलसी,  निम् का सेवन करें अब ये सब दवाइयां लेनी कैसे हे वो पड़ें विट ग्रास और एलोबेरा (25-50) एमएल लेनी हे और गिलोय की 1 फिट की लकड़ी या 1 चमच पाउडर लें और साथ में सात पत्ते नीम के और सात पत्ते तुलसी के लेने हैं और आप को सुबह - शाम 2 -2  गोली गिलोय की लेनी हैं इससे आपका इम्यून सिस्टम मजबूत हो जाता हैं और साथ में अश्वगंधा केप्सूल 1-1 सुबह - शाम शिलाजित केप्सूल भी सुबह - शाम को लें ये सब से आपका इम्यून सिस्टम मजबूत रहता हे अश्वगंधा , शतावर ,सफ़ेद , मूसलि व कौंच के बीज के पाउडर का सेवन करें इस सब से आपका (immune systems) और Auto men diseases मजबूत रहेगा 

  •  Some Yoga 

. भस्त्रिका प्राणायाम -  आप को भस्त्रिका प्राणायाम करने के लिए सबसे पहले एक अच्छी सी जगह पर आसन लगाके सीदे बैठना हे आसन पर बैठते ही आपको रिलेक्स फील करना होगा जिससे आप योगा करने में कोई तकलीफ न हो सीदे बैठ करके लम्बी और गेहरी सांस लेनी हो गई लगभग २ से २:३० सेकंड तक सांस लेनी होगी और २ से २: ३० सेकंड छोड़नी होगी 
इसको ही हम भस्त्रिका प्राणायाम कहते हैं भस्त्रिका प्राणायाम करने से हम लोग (ऑक्सीजन और कार्बन डाइऑक्साइड) का आदन - प्रदान करते है आप को यह बता दें की जिन लोगों को जिनको उक्त रक्तचाप है हृदय रोग , सीने में दर्द , हर्निया और  कमजोरी है उनको धीरे-धीरे करना है और जो यंगमैन हैं वो बताये गये समय से ही करें

. कपालभाति - कपालभाति करने के लिए सबसे पहले ध्यान की मुद्रा में बैठ जाएँ लेकिन पद्मासन में बैठना ज्यादा लाभ कारी होगा 
  • अपनी रीढ़ की हडी को सीधा रखें और अपने हाथों को घोटुओं पर रखें 
  •  और अपनी आखों को बंद करके ध्यान लगाएं साथ में पुरे शरीर को हल्का छोड़ दें 
  •  पद्मासन लगाने के बाद अपनी सांस को अंदर खीचें और और पेट को जटके से बहार छोड़ें 

Causes of Weakning Immune System

इम्यूनिटी सिस्टम के कमजोर होने की वजह है बार बार बीमार होना। जो लोग ज्यादा जल्दी बीमार हो जाते हैं  उन्हें बाकी और लोगों से ज्यादा जल्दी इंफेक्शन या एलर्जी हो जाती है।और इससे जल्दी ठीक होना भी मुश्किल होता है। जिसका इम्यूनिटी सिस्टम अच्छा होता है उनके मुकाबले कमजोर इम्यूनिटी सिस्टम होने वाले लोगों को बीमारियों से बचने में बहुत दिक्कत होती है। कमजोर इम्यूनिटी की वजह से लोगों को  निमोनिया और स्किन से जुड़ी बीमारियां ज्यादा रहती है। और भी बहुत सी बीमारियां होने का खतरा भी रहता है।जैसे - एनीमिया, भूख कम लगना,बच्चों के बढ़ने में देर लगना। कमजोर इम्यूनिटी होने के कुछ लक्षण -

Always Feel weakness -

ज्यादा बीमार होना भी कमजोर इम्यूनिटी होने का कारण होता है।अगर आप आप बार बार बीमार होते है  तो इम्यूनिटी सिस्टम को अच्छा बनाने के लिए अपने खाने का ख्याल रखना चाहिए ।अच्छी Diet लेनी चाहिए।

Alcohol 

अल्कोहल पीने से शरीर की इम्यूनिटी कम हो जाती है। जिससे  बैक्टीरिया और इंफेक्शन का खतरा रहता है।और इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर हो जाता है। और बहुत सी बीमारियों का खतरा रहता है।

Fine Flour -

हम जानते है कि ब्रेड, बिस्किट, कुकीज और बहुत सी खनाए की चीज जो मैदे से बनती है। जब गेहूं के आटे को रिफाइंड करते है तो गेहूं से मिनिरल्स, विटामिन्स अलग होते है। मैदा से बनी हुई चीज खाने से  गुड केलेस्ट्रोल कम होता है और इम्यूनिटी कमजोर होती है।

Too much use of Salt
-
हमारे खाने में नमक बहुत ही जरूरी  है जिससे खाने का स्वाद आता है। ज्यादा नमक खाने से  शरीर में सोडियम बढ़ जाता है। जिससे आपकी हाइपरटेंशन, हार्ट, किडनी खराब हो सकती है। इससे हमारी हड्डियां भी कमजोर हो जाती है।और इससे कैंसर भी हो सकता है। और ये हमारे इम्यून सिस्टम को कमजोर बना देता है।

Sugar
-
चीनी में  कोई भी पौष्टिक एलीमेंट्स नहीं होते हैं। ज्यादा चीनी खाने से हमे लिवर इंफेक्शन, डिजीज केंसर जैसी प्रॉब्लम हो सकती हैं। चीनी में कैलोरी बहुत होती है।इसलिए ज्यादा चीनी खाने से मोटे होने का भी दर रहता है ।जिससे हमारा शरीर ठीक से काम नहीं कर पा। और ज्यादा चीनी खाने से इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है।

Comments